Breaking

Post Top Ad

17 Oct 2018

Buxar Top News: दुर्गा पूजा महोत्सव को लेकर जिलेभर में हाई अलर्ट, असामाजिक तत्वों की खैर नहीं ..



पूजा पंडालों पर जिले का आलाधिकारियों का नंबर टांगा जायेगा. बड़े पंडालों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश दिया गया है.

- सुरक्षा के किये गए हैं व्यापक इंतजाम.
- सीसीटीवी कैमरों से की जा रही पंडालों के आस पास के गतिविधियों की निगरानी.

बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर: दुर्गा पूजा और रावण वध को लेकर जिला प्रशासन ने कई कड़े कदम उठाये हैं. जिला अधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक के संयुक्त आदेशानुसार डुमरांव और बक्सर दोनों अनुमण्डलों में एक हजार से अधिक लोगों के विरूद्ध 107 की कार्रवाई प्रारंभ की गई है. जिसमें कई लोगों ने बांड भरकर कहा है कि किसी भी प्रकार की विधि-व्यवस्था में बाधक नहीं बनेंगे.  उन्होंने यह भी बताया कि दुर्गा पूजा के मौके पर विधि-व्यवस्था में खलल डालने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी. वही पूजा के दौरान विधि व्यवस्था को लेकर सर्किल इंस्पेक्टर सुबोध कुमार के नेतृत्व में नगर में फ्लैग मार्च किया गया।

सभी चिकित्सा केंद्रों को अलर्ट रहने का दिया गया है निर्देश:

सभी सरकारी और गैर सरकारी चिकित्सा केन्द्रों को अपने संसाधनों के साथ अलर्ट किया गया है. किसी भी परिस्थिति में घटना-दुर्घटना के लिए तैयार रहें. पर्व के मौके पर सड़क में उग आये गड्ढ़े को ठीक करने का निर्देश पथ निर्माण के कार्यपालक अभियंता और नगर परिषद प्रशासन को सफाई व्यवस्था शीघ्र करने का निर्देश दिया गया था जिसके आलोक में कार्य भी किया गया है।

सीसीटीवी कैमरे से की जाएगी पंडालों की निगरानी:

सभी पूजा-पंडाल समितियों को लाइसेंस निर्गत करने से पहले अनुमंडल पदाधिकारी दस आदमियों के नाम, पते के साथ बांड ले चुके हैं, ताकि विपरीत परिस्थितियों में निर्णय लिया जा सके. वहीं पूजा पंडालों पर जिले का आलाधिकारियों का नंबर टांगा जायेगा. बड़े पंडालों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश दिया गया है.

भीड़ को देखते हुए नगर में सुरक्षा के किए गए हैं व्यापक प्रबंध:

नगर में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं विभिन्न चौक चौराहों पर दंडाधिकारियों के साथ पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिला स्तर पर साढ़े 7 सौ महिला एवं पुरुष पुलिस बल पूजा के दौरान असामाजिक तत्वों पर नज़र रखेंगे।

रावण दहन के दिन प्रशासनिक व्यवस्था रहेगी चौकस:

दशहरा के मौके पर रावण दहनकराने वाली समितियों को सुरक्षा व्यवस्था में प्रशासनिक सहयोग और पटाखों की खरीददारी लाइसेंसी दुकान से खरीदने का निर्देश दिया गया है. पटाखों की जांच अनुमंडल पदाधिकारी अपने स्तर से करेंगे. किला मैदान में जुटने वाली भीड़ के लिए प्रवेश और निकास द्वार पांच बनाये जायेंगे.

पाँच वाच टावरों से होगी निगरानी:

किला मैदान के अंदर बेरिकेटिंग, कंट्रोल रूम के साथ प्रशासनिक दंडाधिकारियों के बीच होगी रावण दहन किया जाएगा. नगर में आने वाली रावण दहन देखने की भीड़ के मद्देनजर ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर निर्देश दिया गया है. शहर के बाहरी इलाकों में वाहनों का ठहराव को प्रवेश वर्जित कर दिया जायेगा. पूरे इलाके में रौशनी का प्रबंध नगर परिषद और रामलीला समिति के हवाले दी गई है. इन इलाकों में फायर ब्रिगेड की टीम भी मौजूद रहेगी.

- आई के तिवारी की रिपोर्ट।




















No comments:

Post a Comment

Post Top Ad