Breaking

Post Top Ad

15 Oct 2018

Buxar Top News: गुफा के अंदर मैहर माता, वैष्णो देवी, माता विंध्यवासिनी तथा बड़ी देवी के होंगे दर्शन, झूले पर बैठी माता तो हल चलाते नजर आएंगे भगवान शिव शंकर ..



दुर्गा पूजा के दौरान मंगलवार को विभिन्न पूजा समितियों के द्वारा माता के पट खोले जाने की सूचना है. वहीं नगर के एक-दो पूजा पंडालों में सोमवार की शाम को भगवती के पट खोल दिए गए.

नेहरु नगर में स्थापित कृषि आधारित पंडाल व प्रतिमा

- नगर में विभिन्न पूजा पंडालों में सार्वजनिक रूप से हो है रही माँ दुर्गा की आराधना.
- कहीं बना विशाल मंदिर तो कहीं मिसाइलनुमा बना है माँ का दरबार.

बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर: भगवती दुर्गा की आराधना का पर्व पूरे जिले में हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है. लोग जहां घरों में कलश स्थापना कर माता की आराधना कर रहे हैं. विभिन्न पूजा पंडालों में भी सार्वजनिक रूप से माता की पूजा की जा रही है. जहां मां दुर्गा की भव्य प्रतिमाएं स्थापित की गई है.

भारतीय कला निकेतन ने प्रथम दिन से ही भक्तों को दिया माता के दर्शन का सौभाग्य: 

बक्सर नगर के जमुना चौक स्थित भारतीय कला निकेतन द्वारा अपनी 51वीं वर्षगांठ के अवसर पर पहले दिन से ही माता रानी के पट खोल दिए गए तथा श्रद्धालुओं को माता के दर्शन करने का सौभाग्य प्रदान किया गया. पूजा समिति द्वारा मां दुर्गा के साथ साथ भगवान गणेश कार्तिकेय तथा माता लक्ष्मी के भी भव्य प्रतिमाएं स्थापित की गई है.

पहाड़ की गुफाओं में वैष्णो देवी, विंध्यवासिनी देवी, मैहर देवी तथा बड़ी देवी के होंगे दर्शन:

इस बार अपनी 50 वी वर्षगांठ मना रहे बड़ी देवी पूजा समिति के द्वारा श्रद्धालुओं को इस बार 4 देवियों के दर्शन एक साथ कराने की योजना है. जिसमें भव्य गुफा में मां बड़ी देवी के साथ साथ माता विंध्यवासिनी, वैष्णो देवी, तथा मैहर माता की प्रतिमाएं स्थापित की जाएंगी. बंगाल से आए कलाकारों ने दिन रात एक कर शक्ति स्वरूपा माता की भव्य प्रतिमाएं तथा आकर्षक पंडाल का निर्माण किया है.


किसान के वेश में दिखेंगे भगवान भोले शंकर माता दुर्गा भी करेंगी कृषि कार्य में सहयोग:

मां सर्वेश्वरी दुर्गा पूजा समिति, नेहरू नगर के समीप स्थापित माता की प्रतिमा इस बार कृषि आधारित है. जिसमें भगवान शंकर किसान के रूप में खेत जोतते नजर आएंगे. वहीं माता दुर्गा भी उनका सहयोग करती नजर आएंगी. 

उड़ीसा के मंदिर में अर्धचंद्र पर विराजमान हैं मां:

हनुमान फाटक के पास स्थित अशोक कला निकेतन द्वारा इस बार श्रद्धालुओं को उड़ीसा के भव्य मंदिर के अंदर अर्धचंद्र पर विराजमान माता के दर्शन कराए जाएंगे. वहीं पंडाल में अर्धनारीश्वर तथा राधा कृष्ण के भी अलौकिक दर्शन भक्तजनों को प्राप्त होंगे.

ठठेरी बाजार में झूला झूलती नजर आएंगी माता:

ठठेरी बाजार मोड़ पर सुरक्षा समिति दुर्गा पूजा समिति के द्वारा पहाड़ों के बीच बहते झरने के दृश्य के बीच मां दुर्गा झूले पर विराजमान नजर आएंगी. यह पंडाल पूरी तरह खुला होगा जिसके कारण श्रद्धालु तीन तरफ से माता रानी का दर्शन कर पाएंगे.

कमलासन पर विराजमान होंगी मां दुर्गा

सत्यदेव गंज स्थित जय मां भवानी पूजा समिति के द्वारा इस बार मथुरा के चंद्रोदय मंदिर का प्रारूप बनाया जा रहा है, जिसमें कमल के आसन पर माता दुर्गा समेत भगवान श्री गणेश, लक्ष्मी माता तथा भगवान कार्तिकेय नजर आने वाले हैं. यहां तकरीबन 60 फीट ऊंचा पंडाल बनाते हुए लाइटिंग की भी विशेष व्यवस्था की गई है.

पीपरपांती रोड में बिहार तथा बंगाल के कलाकारों का दिखेगा संयुक्त प्रयास:


कुंवर कला निकेतन पीपरपांती रोड के द्वारा बंगाल एवं बिहार के कलाकारों के संयुक्त प्रयास के द्वारा भव्य प्रतिमा का निर्माण किया गया है. साथ ही यहां भी तीनो तरफ से खुले पंडाल में भक्त आसानी से माता का दर्शन पा सकेंगे.

मथुरा के मंदिर में विराजमान हैं आदिशक्ति:

श्मशान घाट मोर पर भी उड़ीसा के चंद्रोदय मंदिर की अनुकृति बनाई जा रही है. जिसमें माता दुर्गा विराजमान होंगी. इस मंदिर की ऊंचाई 80 फ़ीट है. 

रथ पर विराजमान होंगी माता: 

नई बाजार मठिया मोड़ पर भी कोलकाता के भव्य मंदिर के अंदर माता दुर्गा विराजमान होंगी. यहाँ माता रथ पर बैठी नज़र आएंगी. यहां स्थानीय मूर्तिकारों एवं पंडाल निर्माताओं द्वारा ही निर्माण संबंधी सभी कार्य किए जा रहे हैं. 

स्व.वाजपेयी जी को श्रद्धांजलि देने के लिए बनाया मिसाइल नुमा पंडाल, दिखेगा परमाणु परीक्षण का नजारा:

नई बाजार में वार्ड नंबर 7 में  पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई को श्रद्धांजलि देने हेतु परमाणु परीक्षण का नजारा दर्शकों के समक्ष रहेगा. बाल युवा क्लब के द्वारा यहाँ विशालकाय मिसाइल की अनुकृति पंडाल के स्वरूप में नजर आएगी. 

हिमालय की कंदराओं में कीजिये माँ के दर्शन:

वार्ड नंबर 7 में ही बने एक अन्य पंडाल में हिमालय पहाड़ की कंदराओं में भी माँ के दर्शन किए जा सकेंगे. जहाँ भगवान शंकर पहाड़ पर भगवान शंकर नृत्य करते नज़र आ रहे हैं. 


अटल जी की स्मृति में परमाणु परीक्षण का होगा चित्रण:

वार्ड नंबर 7 में ही कोलकाता के लिंगेश्वर मंदिर का स्वरूप श्रद्धालुओं के समक्ष उपस्थित होगा. जिसमें शिवलिंग की आकृति नुमा मंदिर में माता दुर्गा भक्तों को दर्शन देंगे. सबसे बड़ी बात यह है कि नई बाजार के इन तीनों पंडालों का निर्माण यहां के नवयुवकों ने स्वयं अपने हाथ से किया है.

पांडेय पट्टी में पहाड़ की गुफाओं में विराजमान होंगी मां दुर्गा:

पांडेय पट्टी पूजा समिति द्वारा इस बार भव्य पहाड़ की अनुकृति बनाकर उसके अंदर मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की जा रही है. वहीं पंडाल के ऊपर एक विशालकाय ग्लोब भी स्थापित किया गया है. पिछले वर्ष की तरह इस बार भी यहां लाइटिंग के विशेष व्यवस्था की गई है.


अंबेडकर चौक पर भव्य मंदिर में स्थापित है मां दुर्गा की प्रतिमा:

जय मां दुर्गा पूजा समिति अंबेडकर चौक के द्वारा इस बार भव्य मंदिर बनाकर माता दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की गई है. जिसमें अपने अनोखे स्वरूप में मां भक्तों को आशीर्वाद देती नजर आएंगी.

समाहरणालय रोड में बनाया गया है विशाल पंडाल:

 समाहरणालय रोड में विशाल पंडाल के अंदर माता की प्रतिमा स्थापित की जा रही है. पंडाल की ऊंचाई तकरीबन 70 फीट बताई जा रही है. पंडाल निर्माण के कलाकार सोमवार को भी युद्ध स्तर पर निर्माण कार्य में जुटे रहे.

ज्योति प्रकाश चौक पर भी दिख रहा है अलौकिक नजारा:

ज्योति प्रकाश चौक पर खुले पंडाल में माता की प्रतिमा स्थापित की गई है. इस दौरान भक्त आसानी से माता का दर्शन प्राप्त करते हुए आगे बढ़ते रहेंगे. टेंट हाउस के सहयोग से इस बार ज्योति प्रकाश चौक के पास अलग ढंग से सजावट की गई है.

दुर्गा पूजा के दौरान मंगलवार को विभिन्न पूजा समितियों के द्वारा माता के पट खोले जाने की सूचना है. वहीं नगर के एक-दो पूजा पंडालों में सोमवार की शाम को भगवती के पट खोल दिए गए.




















No comments:

Post a Comment

Post Top Ad