Breaking

Post Top Ad

26 Oct 2018

Buxar Top News: प्रियंका पाठक के समर्थन में आयोजित हुआ सर्वदलीय धरना ..

अफसर मनमानी पर उतर गए हैं आकंठ भ्रष्टाचार में डूबे हुए जिसका उदाहरण प्रखंड प्रमुख बदतमीजी तथा उनके पति के विरुद्ध झूठा आरोप लगाना है.

-  वक्ताओं ने कहा, मनमानी पर उतर गए हैं अफसर.
- बोले समर्थक, जारी रहेगा संघर्ष. 

बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर: आम तौर पर महिलाओं को अपने पैरोंं की जूती समझने वाला पुरुष समाज समाहरणालय केे समक्ष एक महिला के सम्मान के लिए एक दिवसीय धरने पर बैठा था. दरअसल मामला सिमरी के प्रखंड प्रमुख प्रियंका पाठक के साथ प्रखंड विकास पदाधिकारी  की कथित छेड़खानी के विरोध में कई दिग्गज नेता एवं प्रबुद्ध जन धरने पर बैठे थे. वे सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी के द्वारा प्रियंका पाठक केे पति के ऊपर किए गए झूठे मुकदमे को वापस लेने की बात कह रहे थे.

सिमरी प्रखंड प्रमुख को न्याय दिलाने के लिए सर्वदलीय एक दिवसीय धरना का आयोजन समाहरणालय के समीप किया गया. कार्यक्रम में विभिन्न दलों के नेताओं ने प्रियंका पाठक के समर्थन में आवाज बुलंद की.कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए छात्रशक्ति के संयोजक सौरभ तिवारी ने कहा कि वर्तमान कि राज्य सरकार के अफसर मनमानी पर उतर गए हैं आकंठ भ्रष्टाचार में डूबे हुए जिसका उदाहरण प्रखंड प्रमुख बदतमीजी तथा उनके पति के विरुद्ध झूठा आरोप लगाना है.


बताते चलें कि सिमरी प्रमुख प्रियंका पाठक ने कथित छेड़खानी का मामला सिमरी प्रखंड पदाधिकारी पर दर्ज कराई थी.बीडीओ ने प्रमुख पति पर एसटी-एससी का मामला दर्ज कराया था. पूरे मामले को लेकर एक प्रतिनिधिमंडल  जिलाधिकारी से मिलकर मामले का निष्पक्ष जांच की मांग की.


धरना को संबोधित करते हुए डॉक्टर सत्येंद्र ओझा ने कहा कि जब तक सिमरी बीडीओ को बर्खास्त नहीं किया जाता  तथा बीडीओ द्वारा फर्जी मुकदमे को वापस नहीं लिया जाता तब तक संघर्ष जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि एक और सरकार जहां विकास के दावे करती है वहीं दूसरी तरफ सरकार के नुमाइंदे भ्रष्टाचार उजागर होने पर झूठा मुकदमा करते हैं. 

धरना में  झूलन सिंह, मुरारी मिश्रा, मिथिलेश पांडेय, रवि राज, रवि सिन्हा, कृष्णा शर्मा, योगेंद्र सिंह, मुकेश पांडेय, विकास पाण्डेय उर्फ़ विक्की पाण्डेय, मनोज पाण्डेय, आरके ओझा, राहुल राय के अतिरिक्त सैकड़ों लोग मौजूद थे.  दूसरी तरफ, शोषित सवर्ण संघर्ष समिति के लोगों ने भी समाहरणालय के समक्ष आयोजित धरने का समर्थन कर सिमरी बीडीओ के कृत्य की निंदा करते हुए प्रशासनिक कार्रवाई की मांग की. धरना में शामिल लोगों का कहना था कि अगर बीडीओ के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती है तो संघ द्वारा व्यापक पैमाने पर आंदोलन करने के लिए बाध्य हो जाएगा.

क्या था मामला: दरअसल सिमरी के प्रखंड प्रमुख ने वर्तमान वीडियो पर आरोप लगाया है कि वह उन्हें छेड़ते हैं. जिसका विरोध करने पर उनके पति के विरुद्ध गलत मामला दर्ज करा दिया गया है.





















No comments:

Post a Comment

Post Top Ad