Breaking

Post Top Ad

30 Oct 2018

Buxar Top News: खेतों में पानी के आभाव पर भड़के ग्रामीण, हंगामा ..

इससे महोत्सव को बीच में ठप करना पड़ा. कुछ देर के लिए कार्यक्रम स्थल पर अफरा-तफरी का माहौल बन गया. 
देखें वीडियो:
- किसानों ने लगाया आरोप कृषि विभाग बना रहा मूर्ख
- रबी महोत्सव के दौरान जमकर हुआ हंगामा.

बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर: सिमरी प्रखंड मुख्यालय पर कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण(आत्मा)की ओर से सोमवार को रबी महोत्सव का आयोजन किया गया.  उद्घाटन परियोजना निदेशक देवनन्दन राम और प्रखंड प्रमुख प्रियंका पाठक ने संयुक्त रूप से दीप-प्रज्जवलित कर किया. महोत्सव में किसानों ने स्थानीय प्रखंड को सूखा ग्रस्त घोषित नहीं किए जाने पर भड़क उठे. किसान पानी की समस्या पर अधिकारियों से बातचीत करना चाह रहे थे परन्तु कृषि विभाग के अधिकारी किसानों की आवाज को अनदेखी करते जा रहे थे. इसी बात पर महोत्सव में पहुंचे किसान भड़क उठे. इससे महोत्सव को बीच में ठप करना पड़ा. कुछ देर के लिए कार्यक्रम स्थल पर अफरा-तफरी का माहौल बन गया. 

क्या हैं मामला: आयोजित महोत्सव के दौरान परियोजना निर्देश देवनन्दन किसानों को रबी फसल कि बुआई की तकनीक को बता रहे थे. महोत्सव में मौजूद किसानों ने कहा कि इस क्षेत्र में सरकारी की ओर से सिंचाई की समुचित व्यवस्था नहीं कि गयी. किसान किसी तरह निजी नलकूप के सहारे अपने फसलों की पटवन करते हैं. क्षेत्र को सूखा ग्रस्त घोषित क्यों नहीं किया गया.किसानों का कहना था कि जिले के नावानगर, राजपुर, चौगाई, प्रखंड को सूखाग्रस्त इलाका घोषित कर दिया गया परंतु सिमरी प्रखंड को क्यों नहीं सूखाग्रस्त इलाका घोषित किया गया. वर्षों से नाबार्ड द्वारा लगाए गए खराब पड़ी बोरिंग ना तो सरकार के पहल पर बनाया गया और ना ही इस इलाके में सिंचाई के लिए किसी प्रकार के पोखरा का निर्माण किया गया. विभाग किसानों की हित की बात पर अमल क्यों नहीं कर रही है. किसानों का कहना था कि सरकार की ओर से मिलने वाली किसानों के हितार्थ लाभ पर विभागीय अधिकारी बंदरबाँट कर रहे है. 

- सुंदर लाल























No comments:

Post a Comment

Post Top Ad