Breaking

Post Top Ad

25 Oct 2018

Buxar Top News: अस्पताल की बिगड़ती व्यवस्था पर विधायक ने सरकार को घेरा ..

सरकार भले ही सरकारी अस्पतालों में व्यवस्था सुदृढ़ करने का दावा करें लेकिन समय समय पर सरकारी अस्पतालों की बदहाली उजागर होती ही रहती है.

- कहा, अस्पताल में है सुविधाओं का खासा भाव
- बोले विधायक, सरकार केवल ढोल पीटती है, जबकि सच्चाई कुछ और है.
देखिये वीडियो:  बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर:  सरकार भले ही सरकारी अस्पतालों में व्यवस्था सुदृढ़ करने का दावा करें लेकिन समय समय पर सरकारी अस्पतालों की बदहाली उजागर होती ही रहती है. ऐसी ही बदहाली की एक तस्वीर उस वक्त सामने आती है जब मरीज अपने बेहतर इलाज के लिए अस्पताल तो आते हैं लेकिन, अस्पताल में मरीजो को न तो स्ट्रेचर मिलता है और ना ही एम्बुलेंस. मजबूरन लोग मरीज को पीठ पर उठाकर या फिर मोटरसाइकल पर लादकर अपने अस्पताल में लेकर आते हैं अथवा अस्पताल से घर लेकर जाते है. कभी-कभी तो स्थिति यह होती है कि मरीजों को जमीन पर लिटाकर छोड़ दिया जाता है. जिनकी सुध लेने वाला भी कोई नही होता है.
वही अस्पतालों की बदहाल व्यवस्था को लेकर जब अस्पताल प्रशासन से पूछा गया तो अधिकारियों ने कुछ न बोलने में ही भलाई समझकर अस्पताल चुप्पी साध ली. हालांकि, इस बाबत जब स्थानीय विधायक संजय कुमार तिवारी उर्फ मुन्ना तिवारी से इस मामले में पूछा गया तो उन्होंने बड़े ही साफ शब्दों में कहा कि, सभी अस्पतालों की बदहाल स्थिति है.  सरकार 132 तरह की दवा होने का दम्भ भर कर ढोल पीटती है. लेकिन अस्पताल में केवल 36 दवा ही मुश्किल से मिल पाती है. जो राज्य सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग की विफलता की पोल खोल रही है. उन्होंने पूछा कि यही सुशासन की सरकार है?

उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना अभी ढकोसला साबित हो रही है. सरकार केवल जनता को बेवकूफ बना रही है. लेकिन वह सरकार के इस रवैया पर चुप नहीं बैठने वाले हैं वह सदन में भी सरकार को इस मुद्दे पर भी घेरेंगे. साथ ही साथ आगामी चुनाव में जनता भी अपने मतों के प्रयोग से सरकार को जवाब देगी.

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad