Breaking

Post Top Ad

15 Oct 2018

Buxar Top News: टला हादसा: खतरे में थी हज़ारों लोगों की जान, रेल प्रशासन बना था अंजान ..



डीआरएम के द्वारा अपने पिछले दो निरीक्षणों के दौरान जहाँ बक्सर तथा डुमरांव के बीच ट्रैक मेंटेनेंस को लेकर ही जहाँ विशेष निर्देश दिए थे. वहीं पटरी के टूटे होने की जानकारी प्रबंधन को ना होना उसकी कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह लगा रहा है.
देखिए: कैसे दो टुकड़ों में बंट गई थी पटरी

- दो टुकड़ों में बंट गई थी पटरी, गुजरती रही गाड़ियां.
- ट्रेन के चालक ने दी कंट्रोल को सूचना, तब जागा रेल प्रबंधन.

बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर: हाल में ही उत्तर प्रदेश के रायबरेली के पास फरक्का एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद पंडित दीनदयाल उपाध्याय-दानापुर रेलखंड भी एक बड़े हादसे का गवाह बनते-बनते रह गया. बरुना रेलवे स्टेशन के समीप डाउन लाइन की टूटी पटरी पर कई ट्रेनें धड़धड़ाती हुई पर कर गयी. हालांकि, इस दौरान किसी प्रकार का बड़ा हादसा सामने नहीं आया. मामले की जानकारी सोमवार की सुबह तकरीबन 7 बजे उस वक्त हुई जब 13202 डाउन लोकमान्य तिलक पटरी से गुजरी. चालक को पटरी टूटे होने का आभास हुआ तथा उसने तुरंत कंट्रोल को इसकी सूचना दी. टूटी पटरी पर गाड़ी गुजर जाने की सूचना जैसे ही कंट्रोल को मिली अधिकारियों के बीच में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में में ट्रैक मेंटेनेंस की टीम मौके पर पहुंचकर पटरियों का निरीक्षण करने लगे. इसी क्रम में पाया गया कि खंभा संख्या 653/18 के समीप पटरी दो टुकड़ों में विभक्त हो चुकी है. यह देखते ही अधिकारियों के होश उड़ गए.उन्होंने तुरंत ही इस बात की सूचना देते हुए मरम्मत का कार्य आरंभ किया. अभियंत्रण विभाग के अधिकारियों के देखरेख में तकरीबन 2 घंटे का समय लगाते हुए पटरियों की मरम्मत की गई. इस दौरान विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर कई ट्रेन रुकी रही. जमानिया रेलवे स्टेशन पर जन शताब्दी भदौरा में जनसाधारण एक्सप्रेस, गहमर में परीक्षा स्पेशल, चौसा में पूर्वा एक्सप्रेस तथा बक्सर रेलवे स्टेशन पर तूफान एक्सप्रेस एवं आउटर पर संघमित्रा एक्सप्रेस खड़ी रही. इस दौरान यात्रियों के बीच में भी तरह-तरह की चर्चाएं होती रही. सुबह 9:00 बजे के बाद परिचालन सामान्य हो सका.

दानापुर डिवीजन के डीआरएम के द्वारा अपने पिछले दो निरीक्षणों के दौरान जहाँ बक्सर तथा डुमरांव के बीच ट्रैक मेंटेनेंस को लेकर ही जहाँ विशेष निर्देश दिए थे. वहीं पटरी के टूटे होने की जानकारी प्रबंधन को ना होना उसकी कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह लगा रहा है.




















No comments:

Post a Comment

Post Top Ad