Breaking

Post Top Ad

26 Oct 2018

Buxar Top News: तीन दिवसीय खेल महोत्सव का हुआ समापन ..

कहा कि इस महोत्सव के आयोजन से समाज में आपसी भाईचारे के साथ साथ सनातनी परंपरा का विस्तार होता है और लोगों को धर्मार्ध कार्यों में जुड़ने का एक सुनहरा अवसर भी मिलता है

- नियाजीपुर में आयोजित था खेल महोत्सव.

- विभिन्न खेलों के खिलाड़ियों ने दिखाया अपना जौहर.


बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर: महावीर पूजा समिति नियाजीपुर बक्सर के तत्वावधान में शरद पुर्णिमा के दो दिन पहले से शुरु इस तीन दिवसीय महोत्सव का आयोजन हर साल की भाॅति इस साल भी काफी धुमधाम व उत्साह के साथ सम्पन्न हुआ. जिसमें पहले दिन सम्पूर्ण खेलकूद प्रतियोगिता के साथ 5000 मी की दौड़ शील्ड प्रतियोगिता, दूसरे दिन राज्य स्तरीय घुड़दौड़ शील्ड प्रतियोगिता, तीसरे दिन शरद पूर्णिमा के दिन महावीर  पूजनोत्सव के साथ पुरस्कार वितरण समारोह व विराट दंगल प्रतियोगिता का आयोजन होता आ रहा है और उस संध्या को ब्रम्हभोज से समापन होता है.

महावीर पूजा समिति नियाजीपुर के अध्यक्ष परशुराम पाठक ने कहा कि इस महोत्सव के आयोजन से समाज में आपसी भाईचारे के साथ साथ सनातनी परंपरा का विस्तार होता है और लोगों को धर्मार्ध कार्यों में जुड़ने का एक सुनहरा अवसर भी मिलता है और बौद्धिक संजेतना जागृत होती है और गाँव गंवई की शानी व पारंपरिक खेल कुश्ती, खेलकूद, दौड़ प्रतियोगिता, आज के वर्तमान परिप्रेक्ष्य में विलुप्त होती घोड़ा दौड़ अन्तर्राज्जीय  प्रतियोगिता का आयोजन भी अपने आप में स्थान रखता है इसके लिए मैं उन महापुरुषों को दिल से आभार व साधुवाद प्रकट करता हूँ कि वे हर साल अपना कीमती व बहुमूल्य समय निकाल कर इस भव्य महोत्सव में भाग लेते हैं. 

उन्होंने जनपद के खिलाड़ी व पहलवानों को भी शुभकामनाएँ संप्रेषित करते हुए कहा कि वे दिन दूना रात चौगुना अप्रतिम सफलता प्राप्त करें. साथ में उन्होंने आयोजन समिति के उन तमाम कार्यकर्ताओ को भी शुभकामनाएँ दी जिन्होंने दिन रात कड़ी मेहनत करके प्रारब्ध से आजतक इस मुकाम तक पहुचाया. 
साथ ही उन्होंने शाहाबाद के साथ साथ राष्ट्र को सदमार्ग का संदेश देते हुवे महावीर पूजा समिति नियाजीपुर 2018 महोत्सव के सुखद समापन के लिए क्षेत्र की जनता को भी बधाई व साधुवाद दिया.

इस दौरान आयोजन समिति के मुख्य सदस्य व प्रधान पुजारी श्री एकराम पाठक, ई हरेन्दर पाठक,  उमा शंकर पाठक, जनमेजय पाठक, राहुल पाठक, नीरज पाठक, रविशंकर पाठक, गोलु पाठक, पवन कुमार पाठक, हिरालाल पाठक, ब्रमेश्वर पाठक, भिखारी राय,सुदामा पाठक, नारायण पासवान, लक्ष्मण ठाकुर, अशोक कुमार पाठक, मनबोध पाठक, संजय पाठक, अभय शंकर पाठक व डाॅ नवीन शंकर पाठक आदि का भी विशेष योगदान रहा.























No comments:

Post a Comment

Post Top Ad