Breaking

Post Top Ad

20 Oct 2018

Buxar Top News: हैवान दुष्कर्मी हत्यारे ने कहा- "मैंने ही की हत्या", ट्रांजिट रिमांड पर ले गयी गुजरात पुलिस ..

नगर थाना के हाजत में बंद युवक मीडियाकर्मियों से बातचीत ना कर सके इसके लिए उसे सख्त हिदायत दी गई थी. संभवत: पुलिस की हिदायत के कारण ही उसने अपना चेहरा ढंका हुआ था
देखें वीडियो: 

- बेहद ही गोपनीय तरीके से दिया गया कारवाई को अंजाम .

- गुजरात पुलिस के साथ इटाढ़ी व धनसोई थाना पुलिस ने की संयुक्त कारवाई.


बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर: हैवानियत की सारी हदें पार कर गुजरात में एक मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म तथा उसकी निर्मम तरीके से हत्या कर बिहारियों तथा उत्तर भारतीयों का सर शर्म से झुका देने वाला हैवान युवक अनिल यादव (20 वर्ष) धनसोई थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया. इस कार्रवाई में गुजरात पुलिस के साथ-साथ दो थानों की पुलिस भी शामिल थे. पुलिस ने इस मामले में बेहद गोपनीयता बरतते हुए गिरफ्तार युवक नगर थाने में रखा हुआ था. यही नहीं पुलिस के आला अधिकारी भी इस मामले में कुछ भी बोलने से कतराते रहे. हालांकि, मीडिया को इस बात की भनक रात को ही रख चुकी थी जिसके बाद मीडिया कर्मी नगर थाने में पहुंचने लगे थे.

युवक की निगरानी के लिए बैठे रहे गुजरात पुलिस के अधिकारी: 

नगर थाना के हाजत में बंद युवक मीडियाकर्मियों से बातचीत ना कर सके इसके लिए उसे सख्त हिदायत दी गई थी. संभवत: पुलिस की हिदायत के कारण ही उसने अपना चेहरा ढंका हुआ था. यही नहीं गुजरात पुलिस के अधिकारी हाजत के द्वार पर ही बैठ कर उसकी निगरानी कर रहे थे.

 गुपचुप तरीके से न्यायालय में पेशी के बाद मांगी 3 दिन की ट्रांजिट रिमांड:

गुजरात पुलिस के अधिकारियों ने बक्सर पुलिस की सहायता से गिरफ्तार युवक को  मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में प्रस्तुत किया, जहां से पुलिस उसे 3 दिनों की ट्रांजिट रिमांड पर लेकर गुजरात के लिए रवाना हो गयी. पुलिस अब उसे गुजरात के न्यायालय में प्रस्तुत करेगी जिसके बाद न्यायालय के आदेशानुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी.

दुष्कर्म के बाद किया सर पर जोरदार प्रहार, फिर गला भी घोंटा: 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना के साथ-साथ उसके सिर में भी गंभीर चोट लगी थी. साथ ही उसका गला भी दबाया हुआ था. सिर में लगी चोट के कारण उसको ब्रेन हेमरेज हो गया था. पुलिस के मुताबिक बच्ची दो दिनों से घर से लापता थी. बच्ची की तलाश के लिए लिम्बायत पुलिस क्राइम ब्रांच, पीसीबी और एसओजी की कुल 10 अलग-अलग टीम तलाश कर रही थी कि दो दिनों के बाद जिस घर में बच्ची के परिजन रहते थे उसी मकान के नीचे के कमरे में एक प्लास्टिक बैग के अंदर पैक मिला. जिसमें बच्ची की लाश थी.

धनसोई थाना क्षेत्र में अपने चाचा के यहाँ छिपा था:

दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के बाद आरोपित अनिल यादव अपने चाचा के घर धनसोई थाना क्षेत्र में आकर छिप गया था. हालांकि, पुलिस ने सर्विलांस के आधार पर उसकी तलाश कर ही ली. 

प्राथमिकी के अनुसार परिजनों का आरोप था कि घर के पड़ोस में रहने वाला अनिल उसे अपने साथ ले गया और दुष्कर्म के बाद बच्ची की हत्या कर दी. इस घिनौनी वारदात को अंजाम देने वाला हत्यारा घटना के बाद से फरार था. गोडाद्रा में रहने वाले परिवार में, पति और पत्नी के अलावा दो बेटियां और चार महीने का एक बेटा है. बच्ची के पिता और आरोपित अनिल यादव दोनों एक साथ ही काम करते थे. आरोपी अनिल यादव के खिलाफ पोस्को और हत्या का मामला दर्ज किया है.

आरोपित ने कहा मैंने ही की थी हत्या:

मीडिया कर्मियों के पूछे जाने पर आरोपित ने कहा कि उसने बच्चे की हत्या की थी पुलिस कर्मियों के बीच घिरे होने के कारण वह मामले में ज्यादा कुछ नहीं बता पाया.





















No comments:

Post a Comment

Post Top Ad