Breaking

Post Top Ad

16 Oct 2018

Buxar Top News: हाथ में लगी गोली साले को बनाया नामजद अभियुक्त ..



घायल ने पुलिस को लिखित शिकायत देकर अपने पड़ोसी और सगे साले  को नामजद अभियुक्त बनाया है. अभियुक्त स्थानीय चौकीदार भी बताया जाता है.

- ब्रह्मपुर थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर गांव का है मामला.
- घटना को माना जा रहा पूर्व के आपसी विवाद की प्रतिक्रिया.

बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर: ब्रम्हपुर थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर में दो पड़ोसियों के बीच मामूली विवाद में एक व्यक्ति को गोली मार दी गयी. घायल ने पुलिस को लिखित शिकायत देकर अपने पड़ोसी और सगे साले  को नामजद अभियुक्त बनाया है. अभियुक्त स्थानीय चौकीदार भी बताया जाता है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक रघुनाथपुर निवासी केशो यादव सपरिवार अपने घर में सोए थे इसी बीच उसका पड़ोसी तथा रिश्ते में साला वसुधर यादव का पुत्र रामजी यादव, (जो स्थानीय थाने में चौकीदार है)उनके घर पर रात दो बजे आकर दरवाजा खुलवा घर में घुस गया और गाली-गलौज करने लगा. जिसका विरोध करने पर वह आपे से बाहर हो गया और देसी कट्टा से गोली चला दी. केशो यादव के हाथ की कलाई में लग गयी.  शोर-शराबा होने के बाद वह भाग खड़ा हुआ. बाद में परिजन की सहायता से घायल को इलाज के लिए रघुनाथपुर अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें सदर अस्पताल रेफर कर दिया. 


बताया जा रहा है कि साले-बहनोई के बीच वर्षो पुराना विवाद जिस शख्स को गोली लगी है. वह भोजपुर जिले के पीरो थाना अंतर्गत लांगा टोला गांव का मूल निवासी है. जो आज से तीस-पैंतीस साल पूर्व अपने ससुराल में बस गया. वहीं जिस रामजी यादव पर यह गोली मारने का आरोप लगा रहा है. वह उस के ही साले का लड़का है. बताया जा रहा है कि वर्ष 2009 में  केशो यादव तथा उनके लड़के धनलाल यादव ने रामजी यादव के घर पर हमला कर धारदार हथियार से इसके पिता वसुधर यादव एवं उनकी पत्नी असतुरनी देवी को  गम्भीर रूप से घायल कर दिया था.जिसमें इलाज के दौरान आसतुरनी देवी की मौत हो गई थी. उस समय किसी तरह केशो यादव दोषी नहीं साबित हुआ था. लेकिन, उसका लड़का धनलाल न्यायालय से दोषी करार होने के बाद आजीवन कैद की सजा भुगत रहा है. 

ऐसे में मामला पूरी तरह से संदेहास्पद प्रतीत हो रहा है मामले के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखकर पुलिस उसकी जांच कर रही है.




















No comments:

Post a Comment

Post Top Ad