Breaking

Post Top Ad

21 Oct 2018

Buxar Top News: 200 एकड़ में बसे दिव्य धाम में आयोजित है अंतरराष्ट्रीय धर्म महासम्मेलन ..

पूरे विधि विधान के साथ जलभरी की गई. इसके बाद श्रद्धालु कलश में जल लिए यज्ञ स्थल पर पहुंचे. इस दौरान श्री लक्ष्मी नारायण महराज की जय घोष से वातावरण गूंज उठा

- देश भर से जुटे हैं विभिन्न धर्माचार्य.

- वेदांत व ज्योतिष के कठिन रहस्यों की जानकारी प्राप्त कर रहे हैं श्रद्धालु.



बक्सर टॉप न्यूज, बक्सर: बक्सर से करीब 20 किलोमीटर दूर इंदौर गांव में इस समय साक्षात दिव्य धाम के दर्शन हो रहा है. भव्य कलश यात्रा के साथ 19 अक्टूबर को पूज्य श्री लक्ष्मी प्रपन्न जियर स्वामी जी महाराज के सानिध्य में श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ सह अंतरराष्ट्रीय धर्म सम्मेलन की शुरुआत की गई.  करीब दो सौ एकड़ में यह धाम बसा हुआ है. एक विशाल पंडाल के अलावा कई छोटे-छोटे पंडाल बनाए गए हैं. जहां प्रख्यात कथा वाचक का प्रवचन समेत अन्य कर्मकांड किए जा रहे हैं. इसके अलावा दूर-दराज से आए श्रद्धालुओं के रहने के लिए सैकड़ों रेवटियां लगाई गई हैं.

कलश यात्रा के दौरान हजारों की संख्या मे श्रद्धालुओं का जन सैलाब देखने को मिला: श्री लक्ष्मी नारायण जीयर स्वामी जी के सानिध्य में आयोजित श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ को लेकर शुक्रवार को निकाली गई कलश यात्रा में शामिल होने के लिए श्रद्धालुओं की जनसैलाब हजारों हजार के संख्या में उमड़ पड़ी.
सुबह के वक्त लगभग 11:00 बजे यज्ञ स्थल से गाजे-बाजे व ऊंट,घोड़े, हाथी के साथ कलश यात्रा निकाली गई. साथ ही हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं की लंबी कतार देखने को मिली.

तत्पश्चात श्रद्धालु खतिबा, पकड़ी मोड़, होते हुए सांठ गांव स्थित ठोरा नदी पहुंचे. जहां पूरे विधि विधान के साथ जलभरी की गई. इसके बाद श्रद्धालु कलश में जल लिए यज्ञ स्थल पर पहुंचे. इस दौरान श्री लक्ष्मी नारायण महराज की जय घोष से वातावरण गूंज उठा.

 यज्ञ स्थल पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है: यज्ञ स्थल की छटा देखते बन रही है. सुबह से लेकर रात तक धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. सुबह होते ही वैदिक मंत्रोच्चार से पूरा यज्ञ स्थल गुंजायमान हो जा रहा है. इसके बाद आरती श्रीमद् भागवत पाठ समेत कई धार्मिक व आध्यात्मिक अनुष्ठान किए जा रहे हैं. आचार्यों की मौजूदगी में घंटों यज्ञ वेदियों की पूजा की जा रही है. अध्यात्म पर पूरे दिन चर्चा हो रही है एवं योग पर भी लगातार चर्चाएं हो रही है. वही देश के कोने-कोने से आए प्रख्यात कथावाचकों को सुनने के लिए श्रद्धालुओं की काफी संख्या मे भीड़ जुट रही है. सुबह में श्रद्धालु जहां योग के विभिन्न विधाओं से अवगत हो रहे हैं. वहीं वेदांत व ज्योतिष के कठिन रहस्यों की जानकारी प्राप्त कर रहे हैं.
रात्रि में मानस मार्तंड कथा सम्राट आचार्य मारुति किंकर जी महाराज के मुखारविंद से श्री राम कथा सुनकर श्रद्धालु धन्य हो जा रहे हैं. जगतगुरु भागवत भूषण कथा महारथी आचार्य डॉ. पुंडरीक शास्त्री महाराज जी द्वारा श्रीमद् भागवत पुराण कथा भास्कर आचार्य रत्नेश जी महाराज द्वारा वाल्मीकि रामायण अचार्य गिरिधर शास्त्री जी द्वारा श्रीमद् भागवत गीता पर प्रवचन किया जा रहा है. जिसे सुनने के लिए अलग-अलग जगहों से आए श्रद्धालुओं की भीड़ जुट रही है. कोने-कोने से लोग प्रवचन सुनने के लिए आ रहे हैं. उक्त आशय की जानकारी अध्यक्ष छोटे उपाध्याय रविंद्र कुमार सिंह ने दी. यज्ञ स्थल पर रोजाना 1 लाख श्रद्धालुओं के प्रसाद स्वरूप भोजन की व्यवस्था की गई है. इसके लिए सात सौ हलवाई लगाए गए हैं.





















No comments:

Post a Comment

Post Top Ad